बा' अदब, बा-मुलाहिजा, होशियार र र र र र र र र र र र र र ..............


आज सरताज-ऐ-ब्लॉग, हुस्न-ऐ-दाढ़ी, दिमाग़-ऐ-तकनिकी, सेन्स-ऐ-हयूमर, दूसरों के सुख -दुःख का ख्याल रखने वाले, बेवक्त और बेवजह दोस्तों और दुश्मनों का ख्याल रखने वाले, सबके सुख-दुःख में शामिल होने होने वाले, हम सबके अपने, श्री श्री श्री पाबला जी का आज जन्मदिन है. 


आज ही के दिन ब्लॉग तकनिकी के भगवान् श्री. पाबला जी इस दुनिया में अवतार लिए थे. आईये आज हम सब मिलकर इस ब्लॉगर भगवान को जन्मदिन की शुभकामनाएं देकर इनका स्तुति गान करें. अभी थोड़ी ही देर में पाबला आरती की जाएगी... सब लोग अपना अपना स्थान ग्रहण कर लें. प्रसाद SMS और  इ.मेल के द्वारा भेज दिया जायेगा. 


Powered by Widgia.com

60 comments:

  • पाबला जी को आज बधाई तो सारा ब्‍लाग जगत दे ही रहा है बस उन्‍हें भगवान की श्रेणी में मत रखो। वैसे ही इस दुनिया में भगवानों की कमी नहीं है और एक? ना बाबा ना, अभी और झगडा नहीं। वे श्रेष्‍ठ इंसान हैं उन्‍हें इंसान ही रहने दो। उन्‍हें श्रेष्‍ठ इंसान बने रहने के लिए शुभकामनाएं।

  • पाबला जी नू जनम दिन दियां लख लख वधाईयां...तुसी जियो हजारां साल ते साल दे दिन होन पंजहजार...:))

    पाबला जी से जब जब फोन पे बात होती है दिल के सारे बंद दरवाज़े खुल जाते हैं...गज़ब के इंसान हैं...चश्मे बद्दूर

    नीरज

  • पाबला जी,
    जन्मदिवस की बधाईयां, आपका जीवन उत्तरोत्तर प्रगति करे।
    यह जन्म दिवस, उस दुखद दुर्घटना के बाद और भी मह्त्वपूर्ण हो जाता है। शुभकामनायें

  • पाबला जी को हमारी ओर से जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं

  • पाबला जी को हमारी ओर से जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं

  • पाबला जी को हमारी ओर से जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं

  • वैसे तो हम चिट्ठाजगत से दूर होकर विकिपीडिया की दुनिया के बाशिंदे हो गये हैं लेकिन बीच-बीच में इधर का जब भी चक्कर मारें पाबला जी के बारे में अच्छी बातें ही सुनने को मिलती रही हैं।

    अक्षरग्राम नेटवर्क के बन्द होने के बाद पाबला जी जैसे लोग हिन्दी चिट्ठाजगत के प्रचार का शानदार कार्य कर रहे हैं। हमारी ओर से उन्हें जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें। ईश्वर उन्हें लम्बी आयु दे और वे इसी तरह हरदिल अजीज बने रहें।

  • साथियों की निश्छल शुभकामनायों से अभिभूत हूँ।
    अपेक्षायों पर खरा उतर पाऊँ यह कोशिश रहेगी मेरी
    आप सभी की मंगलकामनायों हेतु धन्यवाद

    स्नेह बनाए रखिएगा

  • लेखन के लिये “उम्र कैदी” की ओर से शुभकामनाएँ।

    जीवन तो इंसान ही नहीं, बल्कि सभी जीव जीते हैं, लेकिन इस समाज में व्याप्त भ्रष्टाचार, मनमानी और भेदभावपूर्ण व्यवस्था के चलते कुछ लोगों के लिये मानव जीवन ही अभिशाप बन जाता है। अपना घर जेल से भी बुरी जगह बन जाता है। जिसके चलते अनेक लोग मजबूर होकर अपराधी भी बन जाते है। मैंने ऐसे लोगों को अपराधी बनते देखा है। मैंने अपराधी नहीं बनने का मार्ग चुना। मेरा निर्णय कितना सही या गलत था, ये तो पाठकों को तय करना है, लेकिन जो कुछ मैं पिछले तीन दशक से आज तक झेलता रहा हूँ, सह रहा हूँ और सहते रहने को विवश हूँ। उसके लिए कौन जिम्मेदार है? यह आप अर्थात समाज को तय करना है!

    मैं यह जरूर जनता हूँ कि जब तक मुझ जैसे परिस्थितियों में फंसे समस्याग्रस्त लोगों को समाज के लोग अपने हाल पर छोडकर आगे बढते जायेंगे, समाज के हालात लगातार बिगडते ही जायेंगे। बल्कि हालात बिगडते जाने का यह भी एक बडा कारण है।

    भगवान ना करे, लेकिन कल को आप या आपका कोई भी इस प्रकार के षडयन्त्र का कभी भी शिकार हो सकता है!

    अत: यदि आपके पास केवल कुछ मिनट का समय हो तो कृपया मुझ "उम्र-कैदी" का निम्न ब्लॉग पढने का कष्ट करें हो सकता है कि आपके अनुभवों/विचारों से मुझे कोई दिशा मिल जाये या मेरा जीवन संघर्ष आपके या अन्य किसी के काम आ जाये! लेकिन मुझे दया या रहम या दिखावटी सहानुभूति की जरूरत नहीं है।

    थोड़े से ज्ञान के आधार पर, यह ब्लॉग मैं खुद लिख रहा हूँ, इसे और अच्छा बनाने के लिए तथा अधिकतम पाठकों तक पहुँचाने के लिए तकनीकी जानकारी प्रदान करने वालों का आभारी रहूँगा।

    http://umraquaidi.blogspot.com/

    उक्त ब्लॉग पर आपकी एक सार्थक व मार्गदर्शक टिप्पणी की उम्मीद के साथ-आपका शुभचिन्तक
    “उम्र कैदी”

  • [url=http://buyciproxin.webs.com/]cipro buy online
    [/url] ciprofloxacin tablets buy
    cipro buy
    ciprofloxacin buy online uk

  • [url=http://cyclosporine.webs.com]ciclosporina x alcool
    [/url] sandimmun scheda tecnica
    oral bioavailability
    cyclosporine drugs